उत्तर प्रदेशबड़ी खबरलखनऊ

यूपी के डीजीपी मुकुल गोयल बोले- 2022 चुनाव शांतिपूर्वक कराने की बनेगी रणनीति

यूपी के नवनियुक्त डीजीपी मुकुल गोयल ने अपराध नियंत्रण के लिए जनता का सहयोग जरूरी बताया है. उन्होंने कहा कि जनता के सहयोग के बगैर क्राइम कंट्रोल नहीं हो सकता. पुलिस मुख्यालय में डीजीपी का कार्यभार ग्रहण करते हुए 1987 बैच के आईपीएस अधिकारी मुकुल गोयल ने जनता और पुलिस के बीच की दूरी कम करने की बात कही. उन्होंने कहा कि पुलिस अधिकारी फील्ड पर जाएं और जनता से जुड़ें.
नवनियुक्त डीजीपी आज सुबह ही दिल्ली से लखनऊ पहुंचे और हजरतगंज स्थित दक्षिणेश्वर हनुमान मंदिर में माथा टेक कर भगवान का आशीर्वाद लिया. यहां से डीजीपी मुकुल गोयल सप्रू मार्ग स्थित पुलिस ऑफिसर्स मेस पहुंचे. कुछ देर आराम के बाद पौने बारह बजे डीजीपी मुख्यमंत्री से मिलने लोग भवन चले गए. दोपहर 12:30 बजे डीजीपी ने पुलिस मुख्यालय पहुंचकर चार्ज लिया और अधिकारियों से प्रदेश के हालातों और कानून व्यवस्था पर चर्चा की. उन्होंने पुलिस और जनता के बीच की दूरी कम करने पर जोर दिया.
डीजीपी ने कहा कि छोटे-छोटे अपराधों को नजरअंदाज नहीं किया जाएगा क्योंकि इससे संवेदनशीलता बढ़ती है. छोटे अपराध को अनदेखा किया जाता है तो कोई बड़ी वारदात सामने आ सकती है. उन्होंने कहा पुलिस के सामने चुनौतियां बहुत हैं लेकिन मेहनत और जनता के सहयोग से सारी चुनौतियों से निपटा जाएगा. उन्होने अधिकारियों को फील्ड पर जाने के निर्देश दिए और कहा कि फील्ड पर तैनात पुलिसकर्मियों काम देखें. जो बेहतर काम कर रहा है उस पुलिसकर्मी को पुरस्कृत किया जाए. उन्होंने साइबर क्राइम की बढ़ती चुनौती के मद्देनजर पुलिस के क्रियाकलापों में आधुनिकतम टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल की भी बात कही.
2022 चुनाव शांतिपूर्वक कराने की बनेगी रणनीति
डीजीपी ने कहा कि 2022 के विधानसभा चुनाव शांतिपूर्वक कराने के लिए रणनीति बनाई जाएगी. उन्होंने कहा कि सरकार की नीति के अनुसार ही चुनाव कराए जाएंगे. चुनाव में किसी तरह की भी अशांति और अराजकता करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.
धर्मांतरण कराने वालों के खिलाफ कार्रवाई खुद देखेंगे
मुकुल गोयल ने कहा कि धर्मांतरण कराने वालों के खिलाफ जो भी कार्रवाई चल रही है, वह उसके बारे में खुद सारी जानकारी लेंगे. इस रैकेट से जुड़े सभी पहलुओं पर गंभीरता से कार्रवाई की जाएगी. जरूरत पड़ी तो अन्य एजेंसियों का भी जांच में सहयोग लिया जाएगा.
डकैतों पर काबू पाने के लिए लगी हैं टीमें- प्रशांत कुमार
बीहड़ में एक बार फिर से सिर उठाने वाले डकैतों के लिए एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने पुलिस टीमें लगाने की बात कही है. उन्होंने कहा कि एंटी डकैती सेल के अलावा अन्य एजेंसियां भी डकैतों से निपटेंगी. बीहड़ में इन दिनों डकैत गौरी यादव ने आतंक मचा रखा है. पंचायत चुनाव से अभी तक गौरी यादव के उत्पात से इलाके में दहशत है. एडीजी ने कहा कि गौरी यादव पर यूपी सरकार ने 5 लाख और एमपी से 50 हज़ार रुपये का इनाम है. उसे जल्द पकड़कर बीहड़ को भयमुक्त किया जाएगा.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button