ताज़ा ख़बरदेशराजनीति

बंगाल में ममता बनर्जी की सीएम की कुर्सी पर खतरा! उपचुनाव जल्द कराने की मांग पर आज चुनाव आयोग से मिलेगा तृणमूल प्रतिनिधिमंडल

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly Election) में नंदीग्राम (Nandi gram) की विधानसभा सीट से बीजेपी (BJP) के उम्मीदवार शुभेंदु अधिकारी से पराजित होने वाली तृणमूल सुप्रीमो और पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) की सीएम की कुर्सी पर खतरे का बादल मंडरा रहा है. संवैधानिक प्रावधान के अनुसार ममता बनर्जी को 5 नवंबर के पहले निर्वाचित होना होगा. इसलिए जल्द उपचुनाव कराने की मांग पर टीएमसी नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल (TMC Delegation) आज चुनाव आयोग (Election Commission) से मुलाकात करेगा.

इस प्रतिनिधिमंडल में टीएमसी सांसद सौगत रॉय, सुखेंदु शेखर, जौहर सरकार, सजदा अहमद और महुआ मोइत्रा शामिल रहेंगे. यह प्रतिनिधिमंडल चुनाव आयोग द्वारा विधानसभा चुनाव पर मांगें गए विचार से अवगत कराएगा.पार्टी की ओर से दी गई जानकारी में बताया गया है कि गुरुवार को दोपहर 3.30 बजे टीएमसी प्रतिनिधिमंडल चुनाव आयोग के अधिकारियों से मुलाकात करेगा और शाम 4.30 बजे प्रेस कांफ्रेस करने की योजना है.

ममता बनर्जी ने पहले ही की है जल्द उपचुनाव कराने की मांग 

बता दें कि गत 23 अगस्त को ही मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा था कि राज्य में कोरोना के हालात सामान्य हैं और जल्द से जल्द चुनाव की तारीखों की घोषणा कर देनी चाहिए. खास बात यह है कि इस बार विधानसभा चुनाव में ममता बनर्जी को शुभेंदु अधिकारी ने मात दी है. बावजूद इसके बनर्जी मुख्यमंत्री हैं और नियमानुसार उन्हें पांच नवंबर से पहले राज्य के किसी भी विधानसभा क्षेत्र से जीत दर्ज करनी होगी. अगर इसके पहले चुनाव संपन्न नहीं हुए तो मुख्यमंत्री को अपनी कुर्सी छोड़ देनी पड़ेगी. भवानीपुर जहां से अमूमन मुख्यमंत्री चुनाव लड़ती रही हैं, वहां से जीत दर्ज करने वाले शोभन देव चट्टोपाध्याय ने पहले ही इस्तीफा दे दिया है और ममता का यहां से चुनाव लड़ना तय है. इसलिए जल्द से जल्द तृणमूल कांग्रेस यहां उपचुनाव चाहती है.

दो बार पहले भी चुनाव आयोग से मिल चुका है टीएमसी प्रतिनिधिमंडल

इसके पहले दो बार तृणमूल कांग्रेस के प्रतिनिधि चुनाव आयोग के अधिकारियों से मिल चुके हैं, लेकिन बहुत अच्छी प्रतिक्रिया नहीं मिली है. हालांकि आयोग में सभी राजनीतिक दलों को पत्र लिखकर 30 अगस्त से पहले यह जानना चाहा है कि कोरोना के हालात के बीच चुनाव कैसे संपन्न हो? नदिया के शांतिपुर, कूचबिहार जिले के दिनहटा, दक्षिण कोलकाता के भवानीपुर, उत्तर 24 परगना के खरदा और दक्षिण 24 परगना के गोसाबा में उपचुनाव होने हैं. इसके अलावा चुनाव से पहले ही मुर्शिदाबाद के शमशेरगंज और जंगीपुर विधानसभा क्षेत्र में चुनाव से ठीक पहले उम्मीदवारों की मौत हो गई थी जिसकी वजह से यहां चुनाव होना बाकी है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button