अमेठीउत्तर प्रदेशबड़ी खबर

ब्लॉक प्रमुख पद के प्रत्याशी आकर्ष शुक्ला ने निर्वाचन आयोग सहित जिला प्रशासन को पत्र भेजकर निर्विघ्न, निष्पक्ष एवं पारदर्शी चुनाव संपन्न कराने की लगाई गुहार।

राजनीतिक केंद्र बिंदु जनपद अमेठी के कुल 13 ब्लॉकों में से 06 ब्लाक प्रमुख निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं। वहीं पर 07 ब्लॉकों में कल सुबह पूर्वाह्न 11:00 से अपराह्न 3:00 के मध्य वोट डाले जाएंगे। इसके उपरांत मतगणना का कार्य होगा। ज्यों-ज्यों चुनाव निकट आ रहा है त्यों – त्यों प्रत्याशियों की बेचैनी बढ़ती जा रही है । एक तरफ जहां सत्ता पक्ष के प्रत्याशी निश्चिंत नजर आ रहे हैं । वहीं पर अन्य पार्टियों के प्रत्याशी लगातार सशंकित दिखाई पड़ रहे हैं । जिले के जिन 07 ब्लॉकों में कल ब्लॉक प्रमुख चुनाव के लिए मतदान होंगे उनमें भादर, भेंटुआ, शाहगढ़, बाजार शुकुल, संग्रामपुर, तिलोई और बहादुरपुर ब्लाक शामिल है। लेकिन इन सब में सबसे संवेदनशील ब्लॉक भेंटुआ है जहां पर पूरे जिले की निगाहें टिकी हुई हैं। आपको बता दें कि यहां पर भारतीय जनता पार्टी से समर्थित प्रत्याशी सचेन्द्र सिंह तथा बीजेपी के ही कद्दावर नेता एवं पूर्व दर्जा प्राप्त मंत्री आशीष शुक्ला के पुत्र आकर्ष शुक्ला निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में तथा निर्दल प्रत्याशी रेनू सिंह के बीच त्रिकोणीय संघर्ष होना है। वहीं चुनाव से 1 दिन पहले बीजेपी नेता एवं पूर्व दर्जा प्राप्त मंत्री के पुत्र आकर्ष शुक्ला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में अपनी बात साझा करते हुए आरोप लगाया कि विपक्ष के प्रत्याशी पुलिस प्रशासन का उपयोग कर बीडीसी सदस्यों को मुकदमे में फंसाने का डर दिखाने, भयभीत करने और खरीदने की कोशिश कर रहे हैं। आपको बता दें कि पूर्व दर्जा प्राप्त मंत्री आशीष शुक्ला खुद भी बीजेपी के कद्दावर नेता हैं और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के समर्थक भी हैं। इस तरह की घटनाओं को गंभीरता से लेकर ब्लाक प्रमुख पद के प्रत्याशी आकर्ष शुक्ला ने चुनाव से एक दिन पहले उत्तर प्रदेश निर्वाचन आयोग जिला निर्वाचन अधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक अमेठी को ई-मेल द्वारा पत्र भेजकर चुनाव की निष्पक्षता बनाए रखने की मांग की है। पत्र में आरोप लगाते हुए कहा है उन्होंने लिखा है कि विपक्षी उम्मीदवार द्वारा क्षेत्र पंचायत सदस्य और उनके परिजनों को धमकाया जा रहा है। उन्हें मतदान नहीं करने की भी धमकी दी जा रही है। इसके साथ ही प्रमुख पद प्रत्याशी आकर्ष शुक्ला ने मतदान के दिन भी विपक्ष द्वारा गड़बड़ी और मतदान को प्रभावित करने का प्रयास करने की आशंका जताते हुए डीएम से चुनाव को स्वतंत्र निष्पक्ष और लोकतांत्रिक तरीके से कराए जाने की मांग की है । उन्होंने जिलाधिकारी से मांग किया है कि बीडीसी सदस्यों को घर से मतदान केंद्र तक सुरक्षा उपलब्ध कराया जाए और मतदान केंद्र और मतगणना स्थल की वीडियोग्राफी भी करवाई जाए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button