लखनऊ

पाठकों का कॉलम।

मानव जब से धरती पर आया है उसने अपनी स्मृतियों को हमेशा ही संजो कर रखने का प्रयास किया है तरीका भले अलग अलग हो सकता है समय के साथ तकनीक बदलती गई लोग बदलते गए बहुत सारी चीजें, बहुत सारे लोग सिर्फ यादों में रह गए ऐसे ही कुछ यादों को हमारे पाठक लखनऊ के रॉयल फैमिली के नवाबजादा सैयद मासूम रजा, एडवोकेट ने “द ग्लोबल पोस्ट” के साथ शेयर की आज हम इसे आप के बीच पहुंचा रहे हैं उन्होंने यादों को ताजा करते हुए एक लेख और फोटो हमें भेजा जिसे प्रकाशित करने में हमें खुशी महसूस हो रही है। आप भी अगर ऐसी यादों को जोकि किसी शख्सियत के साथ जुड़ी हो हमारे साथ शेयर करना चाहते हैं तो हमें भेजें । हम उन्हें प्रकाशित करेंगे। नवाबजादा सैय्यद मासूम रज़ा ने अटल जी की पुण्यतिथि पर उनके बारे में लिखा।

भारत रत्न से सम्मानित पूर्व प्रधान मंत्री अटल बिहारी बाजपेई जी को उनकी चौथी पुण्यतिथि के अवसर पर खिराज ए अकीदत पेश किया गया : नवाबजादा सैय्यद मासूम रज़ा, एडवोकेट

लखनऊ : भारत रत्न से सम्मानित पूर्व प्रधान मंत्री अटल बिहारी बाजपेई जी को उनकी चौथी पुण्यतिथि के मौके पर पूरे मुल्क, उत्तर प्रदेश और लखनऊ के लोगों ने उन्हें याद कर खिराज ए अकीदत पेश किया। बाजपेई जी मुल्क के एक अज़ीम लीडर थें और लखनऊ से उनका ख़ास लगाव था और वह हमेशा सबको साथ लेकर चलते थें। जिस वजह कर वह हर मजहबों मिल्लत में बेहद मकबूल थें। उनका जन्म 25 दिसंबर 1924 को ग्वालियर में हुआ था। वह पहली बार 1996 में भारत के प्रधान मंत्री बनें। वह इस पद पर तीन बार बैठें। उन्होंने 16 अगस्त 2018 को इस दुनिया को हमेशा हमेशा के लिए अलविदा कह दिया। पूरे मुल्क और ख़ास कर लखनऊ के लोगों ने जहां से कि उनका बहुत पुराना नाता रहा उन्हें याद कर खिराज ए अकीदत पेश किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button