देश

चुनाव बाद में हिंसा मामले में घिरी ममता सरकार, SIT गठन नहीं होने पर उठे सवाल, पीड़ितों के घर पहुंची CBI

पश्चिम बंगाल में चुनाव बाद हुई हिंसा (Post Poll Violence) के मामले में ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) की सरकार घिरती दिख रही है. कलकत्ता हाईकोर्ट (Calcutta High Court) के आदेश के अनुसार सीबीआई (CBI) की टीम जिलों का दौरा कर रही है.आज सीबीआई की टीम उत्तर 24 परगना के जगद्दल में पीड़ितों से मुलाकात की. दूसरी ओर, कोर्टे के आदेशानुसार अभी तक ममता बनर्जी की सरकार ने SIT का गठन नहीं किया है. इसे लेकर याचिकाकर्ता फिर से अदालत में मामला दायर करने पर विचार कर रहे हैं.

बता दें कि हाईकोर्ट ने 18 अगस्त को जांच के लिए आदेश दिया था, जिसके बाद अलग-अलग मामलों में सीबीआई लगातार प्राथमिकी दर्ज कर रही है. अभी तक सीबीआई 28 मामले दर्ज कर चुकी है. शुक्रवार से बंगाल हिंसा पर जांच की कमान खुद संभाल ली है. आज सीबीआई की एक टीम जगद्दल में जाकर हिंसा पीड़ितों से पूछताछ की.

SIT गठन नहीं होने पर हाईकोर्ट में दायर होगी याचिका

दूसरी ओर, चुनाव बाद हिंसा के मामले में एक नया मोड़ आ गया है. जिलों में सीबीआई की टीम घूम रही है, लेकिन अभी तक ममता बनर्जी सरकार ने SIT का गठन नहीं किया है. इसे लेकर याचिकाकर्ताओं का एक वर्ग सवाल उठाकर हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाएगा. राज्य के पुलिसकर्मियों की एसआईटी अभी तक क्यों नहीं बनी? सरकार ने इस आशय की अधिसूचना क्यों जारी नहीं की? सुप्रीम कोर्ट के सेवानिवृत्त न्यायाधीश के नाम को अंतिम रूप नहीं दिया जा रहा है, क्योंकि अधिसूचना जारी नहीं की गई है. 19 अगस्त के फैसले को सरकार क्यों नहीं मान रही है? अदालत के आदेश के अनुसार एसआईटी 6 सप्ताह के भीतर रिपोर्ट कैसे जमा कर पाएगी? जज अपनी पहल पर अदालत की अवमानना ​​के नियम क्यों नहीं जारी करते? कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश राजेश बिंदल की अदालत में मंगलवार को इन विंदुओं को लेकर आवेदन की संभावना जताई जा रही है.

जगद्दल में मृत BJP कार्यकर्ता के घर पहुंची CBI

दूसरी ओर, सीबीआई की टीम आज उत्तर 24 परगना के जगद्दल के रुस्तम गुमटी इलाके में मृत बीजेपी कार्यकर्ता आकाश यादव के घर हत्या की जांच करने सीबीआई की टीम पहुंची. चुनाव का नतीजा आने के बाद बदमाशों ने उन्हें घर से बुलाकर गोली मार दी दी थी. आकाश यादव बीजेपी कार्यकर्ता थे. हालांकि, परिवार के सदस्यों ने कहा कि बदमाशों ने उसे घर से बुलाकर गोली मार दी. पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया था, लेकिन बाकी को गिरफ्तार नहीं किया गया है. ऐसे आरोप आकाश की मां और पत्नी ने लगाए थे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button