उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरलखनऊ

KGMU ने लगाया दंत चिकित्सा शिविर, लोगों में मिले कैंसर के शुरुआती लक्षण

लखनऊ: बीकेटी में बड़ी संख्या में लोग नशे की चपेट में हैं. पुरुष ही नहीं महिलाएं भी नशा कर रही हैं. 25 से अधिक लोगों में कैंसर के शुरुआती लक्षण की आशंका जाहिर करते हुए जांच के नमूने लिए गए हैं. यह चिंताजनक तथ्य मंगलवार को केजीएमयू के ओरल पैथोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी विभाग के दंत चिकित्सा शिविर में सामने आए हैं.
तम्बाकू, खैनी और बीड़ी के आदी लोगों में कैंसर के शुरुआती लक्षण मिले हैं. पांच लोगों में मुंह कम खुलने की शिकायत मिली है. सात वयस्कों में मुंह के भीतर गाल में सफेद चक्कते मिले हैं. चिकित्सा विज्ञान में इसे फाइब्रोसिस कहते हैं. 10 लोगों में लाल धब्बे मिले हैं. डॉ. शालिनी के मुताबिक कैंसर की आशंका में पांच लोगों के नमूने एकत्र किए गए हैं. बाकी लोगों की काउंसिलिंग की गई है, ताकि वह नशे से तौबा कर लें. दवाएं भी मुहैया कराई गई हैं, ताकि कैंसर के शुरुआती लक्षण से मरीजों को निजात दिलाई जा सके.
150 छात्र-छात्राओं के दांतों की जांच हुई है. डॉ. शालिनी के मुताबिक 80 प्रतिशत बच्चों में दांतों से जुड़ी बीमारी मिली हैं. सबसे ज्यादा दांतों में कीड़ा लगने की परेशानी देखने को मिली. ब्रश करने की आदत भी 25 से 30 प्रतिशत बच्चों में मिली. उन्होंने कहा कि शिविर में आए एक भी बच्चा रात में खाना खाने के बाद ब्रश नहीं करता है.
डॉ. शालिनी के मुताबिक आशा कार्यकर्ताओं, पीएचसी डॉक्टरों और फार्मासिस्ट को मुंह की बीमारी की पहचान के लिए प्रशिक्षित किया गया. लोगों को धूम्रपान व तम्बाकू के सेवन न करने की सलाह दी गई. फोन व वॉट्सएप के माध्यम से केजीएमयू के डॉक्टर की सलाह लेने को भी कहा गया है. इस मौके पर लोगों को कोरोना से बचाव के बारे में भी जागरुक किया गया.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button