उत्तर प्रदेशलखनऊ

BJP ने जनता के साथ किया विश्वासघात, सवालों के जवाब दे सरकार: प्रमोद तिवारी

लखनऊ: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने सोमवार को कांग्रेस मुख्यालय पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए प्रदेश की योगी सरकार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने भारतीय जनता पार्टी पर जनता के साथ विश्वासघात करने का आरोप लगाया. कहा कि योगी सरकार (Yogi Government) ने पांच साल में जनता से किए गए कोई भी वादे पूरे नहीं किए. उन्होंने योगी सरकार से पांच सवालों के जवाब मांगे हैं.
वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने कहा कि 2017 के विधानसभा चुनाव में जारी अपने लोक कल्याण संकल्प पत्र में जनता से जो वादे किए थे, सरकार बनने पर उनमें से एक भी वादा पूरा नहीं किया. उन्होंने कहा कि प्रदेश की योगी सरकार ने बेरोजगारों (unemployed ) के साथ किया वादा पूरा नहीं किया. पांच वर्षों में 70 लाख रोजगार देने का वादा था, वह पूरा नहीं हुआ. रोजगार के लिए एक हजार करोड़ रुपये के स्टार्टअप वेंचर कैपिटल फण्ड (startup venture capital fund) की स्थापना क्यों नहीं की ?.
मनरेगा कर्मियों (MGNREGA workers) को रोजगार परक प्रशिक्षण देकर उनके समायोजन के बड़े-बड़े दावे किए गए थे, उनमें से एक भी वादा पूरा नहीं हुआ. तिवारी ने कहा भाजपा सरकार का किसानों के साथ किया गया एक भी वादा पूरा नहीं हुआ. गरीबी से मुक्ति के संकल्प पर एक कदम भी भाजपा सरकार नहीं चली. स्वास्थ्य सेवाओं के लिए संकल्प पत्र में किए गए वादों को पूरा नहीं किया. बुनियादी विकास के मजबूत आधार के संकल्प का क्या हुआ?. इन सब सवालों का योगी सरकार को जवाब देना होगा.
योगी सरकार की जनसंख्या नीति (population policy) पर वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी ने कहा कि अभी सिर्फ ड्राफ्ट जारी कर राय मांगी गई है. जब कानून बन जाएगा तो इसका जवाब दिया जाएगा. अभी फिलहाल इस पर कोई बात नहीं करनी है. वहीं कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद का बयान- सराकर के मंत्रियों के ‘कितने बच्चे हैं’ ‘कितने लीगल हैं’ और ‘कितने अवैध’ हैं. इस बयान पर कोई प्रतिक्रिया देने से फिलहाल मना कर दिया. उन्होंने कहा कि सलमान खुर्शीद का यह बयान फिलहाल मैंने नहीं सुना है. अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के यूपी पुलिस पर भरोसा नहीं वाले बयान पर प्रमोद तिवारी ने किसी भी प्रकार की प्रतिक्रिया देने से मना किया. उन्होंने कहा मुझे योगी सरकार पर भरोसा नहीं है और अखिलेश को पुलिस पर भरोसा नहीं है तो यह अखिलेश जानें.
प्रतापगढ़ में आपके नेतृत्व में कई ब्लॉक प्रमुख जीते. इसमें राजा भैया की जनसत्ता दल पार्टी की सहायता आपको मिली और आपने जिला पंचायत अध्यक्ष प्रत्याशी जिताने में राजा भैया की सहायता की, तो क्या यह माना जाए कि आगामी विधानसभा चुनाव में राजा भैया की जनसत्ता दल पार्टी कांग्रेस के साथ खड़ी होगी ? ‘ईटीवी भारत’ के इस सवाल पर प्रमोद तिवारी ने कहा कि वहां पर हमारे पास जीते हुए प्रत्याशियों की अच्छी खासी तादाद थी. इस चुनाव को विधानसभा चुनाव (Assembly elections) से जोड़कर नहीं देखना चाहिए. यह भारतीय जनता पार्टी को हराने के लिए चुनाव लड़ा गया था. इसमें हमने उन पार्टियों से सहयोग लिया और उन्हें हमने सहयोग दिया.
यूपी के चुनावों में खुलेआम हिंसा
आपकों बता दें कि सोमवार को ही कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Congress General Secretary Priyanka Gandhi Vadra) ने उत्तर प्रदेश कांग्रेस सलाहकार परिषद (up congress advisory council) और रणनीतिक ग्रुप के साथ ऑनलाइन बैठक की. इसमें उन्होंने आगामी यूपी विधानसभा चुनावों के लिए रणनीति बनाने और संगठन की गतिविधियों में तेजी लाने को लेकर चर्चा की. इस बैठक में प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, प्रमोद तिवारी, सलमान खुर्शीद, पीएल पुनिया, राकेश सचान और हरेंद्र मलिक जैसे वरिष्ठ नेता मौजूद रहे.
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने बैठक में महंगाई, कोरोना, पंचायत चुनावों और संगठन के प्रशिक्षण शिविर को लेकर चर्चा की. बैठक के दौरान प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव और ब्लॉक प्रमुख चुनावों में हुई हिंसा को लेकर भाजपा पर निशाना साधा. उन्होंने कहा इन चुनावों में खुलेआम हिंसा हुई. भाजपा कार्यकर्ताओं ने हिंसा करते हुए बम, पत्थर और गोलियां चलाईं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button