अमेठीउत्तर प्रदेश

सवारियों से खचाखच भरी प्राइवेट बस बाइक सवार को टक्कर मारते हुए पलटी एक युवक की मौके पर हुई दर्दनाक मौत और कई घायल।।

अमेठी – सरकार द्वारा सड़क हादसों को रोकने के लिए तमाम तरह के उपाय चलाए जा रहे हैं लेकिन उसके बावजूद सड़क हादसे थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। अभी सरकार के द्वारा सभी जनपदों में 22 से 28 जुलाई तक सड़क सुरक्षा सप्ताह का शुभारंभ किया गया है लेकिन वहीं पर आज दूसरे ही दिन सुबह लगभग 9:00 बजे अमेठी जनपद के फुरसतगंज थाना क्षेत्र अंतर्गत ब्रम्हनी गांव के पास भीषण सड़क दुर्घटना देखने को मिली। जहां पर रायबरेली जिले में सवारियों से खचाखच भरी एक निजी बस जिसका नंबर यूपी 42 T 6683 सुबह 8:15 बजे के करीब निकली जैसे ही वह रायबरेली सुल्तानपुर राजमार्ग के ब्रम्हनी गांव के पास पहुंची । अचानक उसके सामने बाइक सवार आ गया और उसको बचाने की कोशिश में बस चालक लग गया। लेकिन बस की रफ्तार तेज होने के चलते लेकिन वह असफल रहा । जब तक सवारिया कुछ समझ पाती तब तक बस ने बाइक सवार को उड़ा दिया और खुद भी अनियंत्रित होकर सड़क के किनारे जा गिरी । अंदर से लोगों की चीख पुकार मच गई दुर्घटना होते ही स्थानीय लोगों ने पुलिस को फोन कर सूचना दी आनन-फानन में मौके पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से सभी घायलों को तत्काल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र फुरसतगंज भेजा । जहां पर एक व्यक्ति की गंभीर स्थिति को देखते हुए तत्काल डॉक्टरों ने प्राथमिक उपचार करने के उपरांत उसे जिला अस्पताल रायबरेली रेफर कर दिया । सभी घायलों का इलाज समुदाय स्वास्थ्य केंद्र फुरसतगंज में चल रहा है । सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र फुरसतगंज के डॉक्टर मनीष मौर्या ने बताया लगभग 8 से 10 लोग घायल अवस्था में यहां आए थे । जिन का इलाज किया गया अस्पताल में किसी की मृत्यु नहीं हुई । लेकिन बताया जा रहा है घटनास्थल पर एक युवक की मृत्यु हो चुकी है । यह वही युवक है जो बाइक सवार था उसकी मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई फिलहाल पुलिस ने लाश को कब्जे में लेकर पंचायत नवा करते हुए पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और घर वालों को सूचित कर दिया है । दुर्घटना के बाद बस का ड्राइवर और क्लीनर बस छोड़ कर मौके से फरार हो गया। पुलिस पूरी तहकीकात करने और घायलों को सुविधा पहुंचाने में लगी हुई है। वहीं पर सूचना लगते ही स्थानीय भारतीय जनता पार्टी के स्थानीय नेता भवानीदत्त दीक्षित ने तत्काल मौके पर पहुंचकर सभी घायलों के समुचित इलाज, मदद एवं अन्य बंदोबस्त में जुट गए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button