उत्तर प्रदेशहापुड़

हापुड़: मुंह में पेट्रोल भर कर करतब दिखाने में लगी आग, 5 बच्‍चों समेत आठ झुलसे

हापुड़: जन्माष्टमी के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में मुंह में पेट्रोल भर कर करतब दिखाने के दौरान आग लगने के कारण हादसा हो गया. घटना में कार्यक्रम देखने आए पांच बच्‍चों समेत आठ लोग झुलस गए. घायलों को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका उपचार चल रहा है. घटना हापुड़ जिले के पिलखुवा कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला गढ़ी की है.

प्राप्‍त जानकारी के मुताबिक, जनपद हापुड़ के पिलखुवा कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला गढ़ी में जन्माष्टमी के अवसर पर कार्यक्रम का अयोजन किया गया था.कार्यक्रम देखने आस-पास के कई लोग पहुंचे हुए थे. इस दौरान कार्यक्रम में आयोजकों की ओर से कई तरह के करतब दिखाए गए.

आग लगने के बाद कार्यक्रम स्‍थल पर मची अफरातफरी

इस दौरान कार्यक्रम में एक युवक ने मुंह में पेट्रोल भर कर करतब दिखा रहा था कि अचानक कार्यक्रम स्‍थल पर आग लग गई. इसके बाद लोगों में अफरातफरी मच गई. हादसे में पांच बच्‍चों समेत आठ दर्शक झुलस गए.स्थानीय लोगों की मदद से झुलसे हुए लोगों को नजदीकी निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां सभी घायलों का इलाज चल रहा है.

मथुरा के मंदिरों में धूमधाम से मनाई गई जन्माष्टमी, आज नन्दोत्सव की रहेगी धूम

उधर, मथुरा के विभिन्न मंदिरों में सोमवार को जन्माष्टमी का पर्व धूमधाम से मनाया गया. मथुरा स्थित श्रीकृष्ण जन्मस्थान के भागवत भवन मंदिर में सोमवार रात को 12 बजते ही हरिचंद्रिका पोशाक पहने राधाकृष्ण की छवि के आगे पर्दा खिंच गया और मंदिर परिसर कान्हा के जयकारों से गूंज उठा. मंदिर में करीब आधा घंटे से भी अधिक समय तक मंत्रोच्चारण के मध्य दूध, दही, घी, बूरा, शहद एवं अनेक औषधियों से ठाकुर जी का महाभिषेक किया गया. इसके बाद ठाकुर जी की मंगला आरती संपन्न हुई. कोविड-19 संबंधी प्रोटोकॉल की अधिकतर जगह अनदेखी की गई और अधिकतर भक्तों को मास्क पहने बिना या सामाजिक दूरी का पालन नहीं करते हुए देखा गया.

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गौरव ग्रोवर ने बताया कि नंदगांव, गोवर्धन, बलदेव, जातिपुरा, बरसाना, वृंदावन और मथुरा के अन्य मंदिरों में जन्माष्टमी धूमधाम से मनाई गई और इस दौरान किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली है.मंगलवार सुबह श्रीकृष्ण जन्मस्थान सहित ब्रज के सभी मंदिरों में नन्दोत्सव की धूम रहेगी. श्रद्धालुओं के आकर्षण का विशेष केंद्र गोकुल का मंदिर होगा, जहां नन्दोत्सव का विशेष आयोजन किया जाएगा.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button