उत्तर प्रदेशसुलतानपुर

संदिग्ध परिस्थितियों में युवक की मौत, परिजनों की मांग डीएम ने दिए दोबारा पोस्टमार्टम के आदेश

  • युवक की हरियाणा के फरीदाबाद शहर में मौत परिजनो को हत्या की आशंका
सुलतानपुर। स्थानीय क्षेत्र के एक गांव में उस समय हड़कंप मच गया जब पता चला कि गांव निवासी युवक की करंट लगने से परदेश में मौत हो गई है। युवक का शव जब घर आया तो परिजनों को हत्या की आशंका हुई तो परिजन मृतक युवक के शव को घर पर छोड़ जिलाधिकारी से पुनः शव के पोस्टमार्टम करवाने की मांग की। जिलाधिकारी के निर्देश पर मृतक युवक के शव का पुलिस व मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में पुनः पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम कराया जा रहा है।
मामला गोसाईगंज थाना क्षेत्र के मरियमपुर गांव से जुड़ा है। मृतक युवक के भाई प्रताप बहादुर सिंह उर्फ गप्पू ने डीएम को दिए गए प्रार्थना पत्र में अवगत कराया है कि उनके भाई चंद्रेज उर्फ पप्पू सिंह (36)वर्ष पुत्र तेज बहादुर सिंह हरियाणा प्रदेश के फरीदाबाद में रहते थे।जहां बीते 21 जुलाई को उनके मामा शेष बहादुर सिंह व उनके पार्टनर अनिल ने उन्हें अपने घर फरीदाबाद बुलाया।इसी बीच 22 जुलाई की सुबह लगभग 3:00 बजे मृतक के छोटे भाई प्रताप बहादुर सिंह उर्फ गप्पू पुत्र तेज बहादुर सिंह को फोन पर सूचना दी कि चंद्रेज उर्फ पप्पू सिंह की करंट की चपेट में आने से मौत हो गई।

मौत की सूचना मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया।परिजन मृतक युवक के शव के आने का इंतजार करने लगे। शुक्रवार की सुबह लगभग 3:00 बजे मृतक का शव उसके पैतृक गांव मरियमपुर को पहुंचा तो परिजनों में कोहराम मच गया। अंतिम संस्कार के लिए युवक को नहलाते समय परिजनों व ग्रामीणों को शंका हुई कि अगर चंद्रेज उर्फ पप्पू सिंह की मौत विद्युत करंट से हुई होती तो कहीं न कहीं जले का निशान होता।
परिजनों ने युवक की मौत को संदिग्ध मानते हुए अंतिम संस्कार न करते हुए जिलाधिकारी सुल्तानपुर से प्रार्थना पत्र देकर निवेदन किया कि कृपया फिर से मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में पंचायत नामा भरवाते हुए शव का पोस्टमार्टम करवाया जाए। जिलाधिकारी रवीश गुप्ता के निर्देश पर चिकित्साधिक्षक ने तीन चिकित्सकों का पैनल बनाते हुए मृतक युवक का फिर से पोस्टमार्टम कराये जाने के निर्देश दिये।
वही जिलाधिकारी व उपजिलाधिकारी सदर के निर्देश पर शुक्रवार की शाम नायब तहसीलदार दीपंकर व गोसाईगंज थाने के उपनिरीक्षक पुलिस टीम ने शव का पंचायत नामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेजवाया। तीन चिकित्सको का गठित पैनल बीडियोग्राफी के साथ मृतक युवक के शव की पोस्टमार्टम की कार्यवाही करेगा।अब पीएम रिपोर्ट के बाद ही वास्तविक स्थिति स्पष्ट हो पाएगी वही घटना के बाद से परिजनों में कोहराम मचा हुआ है।
डीएम के आदेश के वावजूद पोस्टमार्टम में दिखी लापरवाही-
जिलाधिकारी रवीश गुप्ता ने शुक्रवार को दोपहर मृतक युवक के शव को पोस्टमार्टम का आदेश दिया।वही डीएम के आदेश के वावजूद पुलिस व स्वास्थ बिभाग की लापरवाही देखने को मिली।जहाँ चिकित्साधीक्षक ने तीन चिकित्सीय टीम की मौजूदगी में पोस्टमार्टम के दौरान वीडीओ ग्राफी के आदेश दिए रहे।वीडीओ ग्राफी व अन्य व्यवस्था में हीलाहवाली के चलते रात 11बजे तक मृतक युवक के शव का पोस्टमार्टम नही हो सका ।जिससे परिजन देर रात तक शव को लेकर पोस्टमार्टम हाउस पर बिन खाये पिये बैठे रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button