उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरलखनऊ

श्री कृष्ण जन्माष्टमी मनाने आज मथुरा जाएंगे सीएम योगी आदित्यनाथ

जन्मस्थान का करेंगे दर्शन; सुरक्षा के कड़े इंतजाम

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) भगवान श्री कृष्ण जन्माष्टमी (Shri Krishna Janmashtami 2021) के मौके पर दर्शन करने आज मथुरा जाएंगे. मथुरा के रामलीला मैदान में बीते रविवार से तीन दिवसीय कृष्णोत्सव कार्यक्रम का आयोजन हो रहा है और सोमवार को जन्माष्टमी के अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इसमें शामिल होंगे. उत्तर प्रदेश ब्रज तीर्थ विकास परिषद के सीईओ नागेंद्र प्रताप ने यह जानकारी दी. यह आयोजन परिषद, राज्य के पर्यटन विभाग और जिला प्रशासन द्वारा किया जा रहा है.

परिषद के उपाध्यक्ष शैलजाकांत मिश्रा ने बताया, सोमवार को, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दोपहर साढ़े तीन बजे मथुरा आएंगे. वह कृष्णोत्सव का उद्घाटन करने के लिए रामलीला मैदान जाएंगे. मिश्रा ने कहा कि मुख्यमंत्री का मथुरा में करीब 90 मिनट ठहरने का कार्यक्रम है इस दौरान वह श्रीकृष्ण जन्मस्थान मंदिरों में दर्शन भी करेंगे. सीएम के दौरे को लेकर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं.

ये है सीएम योगी का कृष्ण जन्माष्टमी कार्यक्रम, 3:20 बजे पहुंचेंगे मथुरा

देश विदेश में श्री कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व बड़े उल्लास और उत्साह के साथ मनाया जा रहा है. मुख्यमंत्री के कार्यक्रम के अनुसार वह सोमवार यानी आज दोपहर 3:20 बजे मथुरा पहुंचेंगे. लखनऊ से दोपहर 1:55 बजे प्रस्थान करके मथुरा में सरस्वती कुंड रोड स्थित ओम पैराडाइज में बनाए जा रहे हेलीपैड पर दोपहर 3:20 बजे मुख्यमंत्री का हेलीकॉप्टर उतरेगा. वह यहां से 3:30 बजे महाविद्या रामलीला मैदान में आयोजित होने वाले कार्यक्रम में पहुंचेंगे.

4:35 पर सीएम योगी श्री कृष्ण जन्मभूमि में दर्शन कर करेंगे. पूजा अर्चना के बाद 4:55 पर सीएम योगी श्री कृष्ण जन्मभूमि से हेलीपैड ओम पैराडाइज के लिए रवाना होंगे. जन्माष्टमी के अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करीब 1 घंटा 50 मिनट मथुरा में और करीब 20 मिनट श्री कृष्ण जन्मस्थान में रहेंगे.

कड़े सुरक्षा इंतजाम

उत्तर प्रदेश के डीजीपी मुकुल गोयल ने जन्माष्टमी के मौके पर त्योहार को लेकर खास दिशा निर्देश दिए हैं. डीजीपी ने कड़ी सुरक्षा व्यवस्था का निर्देश दिया है. उन्होंने निर्देश दिया है कि संवेदनशील इलाके में शांति व्यवस्था बनाने के लिए सभी जरूरी कदम उठाए जाएं. पुलिसकर्मी अपने-अपने इलाके में गश्त करें. जरूरी जगहों पर पुलिस पिकेट की तैनाती की जाए.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button