उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरलखनऊ

यूपी चुनाव से पहले जमीन पर उतरे अखिलेश यादव, कहा- समाजवादी पार्टी ही बीजेपी का विकल्प

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी पर हमला बोलते हुए कहा कि ‘बीजेपी झूठी पार्टी है, इसे हटाइए.’ बुधवार को उन्नाव जिले के सरौसी गांव के मनोहर लाल इंटर कालेज में स्‍थापित पूर्व मंत्री मनोहर लाल की प्रतिमा का अनावरण करने के बाद उपस्थित समूह को संबोधित करते हुए सपा प्रमुख यादव ने कहा कि बीजेपी के लोग झगड़ा लगाने का काम करते हैं. बीजेपी ने पंचायत चुनावों में नोट का इस्तेमाल किया और ब्लाक प्रमुख और जिला पंचायत अध्यक्षों के पद हथिया लिए. बीजेपी ने सरकारी संस्थाओं को बेच दिया है.
सपा प्रमुख बुधवार को क्रांति रथ पर सवार होकर लखनऊ से उन्नाव के लिए रवाना हुए और लखनऊ-कानपुर राजमार्ग पर उनका जगह-जगह भव्‍य स्‍वागत किया गया. उन्‍नाव में अखिलेश यादव ने आरोप लगाया कि ”बीजेपी सरकार के रहते नौजवानों की बेकारी बढ़ी, महंगाई बेलगाम हुई. साढ़े चार साल में एक फैक्ट्री प्रदेश में नहीं लगी है. लोगों को इस सरकार ने भुखमरी के कगार पर पहुंचा दिया है.” बीजेपी को सत्ता से हटाने का आह्वान करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने दावा किया कि समाजवादी पार्टी इस बार 350 सीटें जीतेगी.
कई बार विधायक, सांसद और मुलायम सिंह यादव के नेतृत्व वाली सरकार में मंत्री रहे मनोहर लाल को नमन करते हुए यादव ने कहा कि आज यहां बड़ी रैली होनी थी जिसकी प्रशासन ने अनुमति नहीं दी. लेकिन जब कोविड खत्म होगा तो लाखों लोगों की रैली होगी. उन्होंने श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि मनोहर लाल जीवनभर गरीबों, दलितों, पिछड़ों की आवाज उठाते रहे और उनके लिए संघर्ष करते रहे.
बीजेपी ने जनता को बुरी तरह निराश किया है- अखिलेश
यादव ने कहा कि 2022 में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए बहुत कम समय बचा है. बीजेपी ने जनता को बुरी तरह निराश किया है, इसलिए समाज के सभी वर्गों के लोग बीजेपी सरकार को हटाना चाहते है. उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी ही बीजेपी का विकल्प है. अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी की सरकार रही तो इसी तरह बेरोजगारी बढ़ती रहेगी. न नौकरी मिलेगी और न ही रोजगार मिलेगा. तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि बीजेपी ने एक करोड़ नौकरी देने का वादा किया था, वादा तो पूरा नहीं किया उल्टे मंहगाई इतनी बढ़ा दी कि जो मुफ्त में सिलेंडर मिले थे वह भी मंहगाई के चलते भराए नहीं जा सकते.
अखिलेश यादव ने कहा, ”बड़े बड़े कार्यक्रम करके उद्योग लाने के दावे किये गये थे लेकिन बताइए कितना निवेश आया. मंहगाई बढ़ा दी, किसान की आय दो गुनी कर नहीं पाए बल्कि उनकी आय कम कर दी है. रोजगार दिये नहीं बेरोजगारी बढ़ गयी.” कोरोना वायरस पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार की नाकामी सबके सामने है, तीसरी लहर की चर्चा है पर बीजेपी सरकार इसके लिए क्या तैयारियां कर रही है, पता नहीं? उन्होंने कहा, ”बीजेपी झूठ बोलने वाली पार्टी है, वह गुमराह करती है. सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण के समय जनता को अनाथ छोड़ दिया.”
बीजेपी के फैसले जनहित में नहीं है- सपा प्रमुख
सपा प्रमुख ने यह भी आरोप लगाया कि बीजेपी सरकार के समय नेताओं, पत्रकारों आदि कई लोगों की जासूसी की खबरें है. बीजेपी का राज्य विधानसभा, संसद तक भारी बहुमत है, फिर उसे जासूसी कराने की क्या जरूरत आ पड़ी? जासूसी करना दंडनीय अपराध है. बीजेपी के फैसले जनहित में नहीं है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button