उत्तर प्रदेशताज़ा ख़बरबाराबंकी

बाराबंकी में फर्जी वैक्सीनेश का बड़ा खेल आया सामने, खुलासा करने वाले को जिंदा जलाने की कोशिश

बाराबंकी में फर्जी वैक्सीनशन का बड़ा खेल सामने आया है. यहां स्वास्थ्यकर्मियों द्वारा श्रावस्ती जिले से वैक्सीन लाकर बाराबंकी जिले में वैक्सीनशन किया जा रहा था. मौके पर करीब 150 ग्रामीण वैक्सीनशन करवा रहे थे. वैक्सीनशन कर रहे स्वास्थ्य कर्मी ने बताया कि वह श्रावस्ती जिले में स्वास्थ्य विभाग में तैनात है और वह वहीं से वैक्सीन लाकर यहां ग्रामीणों का वैक्सीनशन करता है.

मौके पर को भारी मात्रा में कोवैक्सीन खाली और भरे वॉयल भी मिले. वहीं जब मीडियाकर्मियों के कैमरे में यह फर्जी वैक्सीनेशन का खेल कैद हो गया, तो वहां मौजूद स्वास्थ्य कर्मी और ग्रामीण अचानक आक्रोशित हो गए. सभी ने मिलकर मीडिया कर्मियों को एक कमरे में कैद करके जिंदा जलाने की कोशिश भी की.

एसपी यमुना प्रसाद के आदेश पर पुलिस ने इस मामले में 18 आरोपियों को नामजद करने के साथ ही करीब 50 अज्ञात लोगों के खिलाफ भी केस दर्ज किया. साथ ही सभी आरोपियों की तलाश में पुलिसफोर्स गांव में लगातार दबिश दे रही है.

मामला बाराबंकी में जैदपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले गांव मानपुर डेहुआ का है. जहां पर श्रावस्ती जिले का एक स्वास्थ्यकर्मी अक्सर वैक्सीन लाकर लोगों का वैक्सीनेशन किया करता था. आज देर रात एक बार फिर यह स्वास्थ्यकर्मी उसी गांव में लगभग डेढ़ सौ लोगों का वैक्सीनशन कर रहा था. जानकारी करने पर स्वास्थ्यकर्मी ने कबूल भी किया कि वह श्रावस्ती से वैक्सीनशन लाता है और अक्सर यहां पर लोगों का वैक्सीनेशन करता है. वैक्सीनशन कर रहे शख्स ने अपना नाम सूर्य प्रताप सिंह बताया और कहा कि वह श्रावस्ती जिले में एलए के पद पर तैनात है.

मौके पर को भारी मात्रा में कोवैक्सीन खाली और भरे वॉयल भी मिले और वहां मौजूद डस्टबिन में भी सैकड़ों की संख्या में इस्तेमाल की हुई सीरिंज भी बरामद हुईं. वहीं जब मीडिया के कैमरे में वैक्सीनशन करता हुआ स्वास्थ्यकर्मी कैद हो गया तो ग्रामीणों ने मीडियाकर्मियों पर हमला बोल दिया. ग्रामीणों ने मीडियाकर्मियों के साथ काफी मारपीट और अभद्रता की. साथ ही उनके माइक और कैमरे भी तोड़ दिए.

ग्रामीणों ने मीडियाकर्मियों से लूटपाट भी की. इसके बाद मीडियाकर्मियों को कमरे में कैद करके मिट्टी का तेल डालकर जिंदा जलाने की भी कोशिश की गई. कई ग्रामीणों ने असलहे भी तानकर मीडियाकर्मियों को जान से मारने की धमकी दी. इसी बीच मीडियाकर्मियों ने किसी तरह मौके से भागकर बचाई अपनी जान बचाई और डीएम, एसपी और सीएमओ समेत जिले के सभी आलाधिकारियों को मामले की जानकारी दी.

मामले की जानकारी मिलने पर जिले के आलाधिकारियों में हड़कंप मच गया और, मौके पर तीन थानों की पुलिस पहुंच गई. इसके बाद पुलिसफोर्स ने पूरे गांव में छापेमारी की, लेकिन तब तक सभी आरोपी मौके से फरार हो गए. हालांकि इस दौरान पुलिसकर्मियों ने कुछ ग्रामीणों को पकड़कर मीडियाकर्मियों द्वारा बनाए गए वीडियो से सभी आरोपियों की शिनाख्त की और 18 आरोपियों को नामजद करने के साथ ही करीब 50 अज्ञात लोगों के खिलाफ भी केस दर्ज किया.

एसपी ने बताया कि बाराबंकी  पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ जान से मारने का प्रयास करने समेत कई अन्य संगीन धाराओं में केस दर्ज किया है. इसके अलावा सभी आरोपियों की तलाश में पुलिसफोर्स गांव में लगातार दबिश दे रही है. वहीं मौके पर वैक्सीनेशन करवाने आए ग्रामीणों ने भी बताया कि यह स्वास्थ्यकर्मी अक्सर यहां श्रावस्ती जिले से आकर ग्रामीणों को वैक्सीन लगाता है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button