उत्तर प्रदेशगोरखपुर

पूर्वी यूपी में बाढ़ और बारिश से परेशान लोग, खतरे के निशान से ऊपर कई नदियां

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के पूर्वी हिस्से में बाढ़ के कारण लाखों लोग प्रभावित है. इसी हिस्सी के गोरखपुर में बाढ़ ने कहर बरपाया हुआ है. गोरखपुर में राप्ती और रोहन नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं. इसके कारण निचले इलाकों में पानी भर गया है. बाढ़ बुलेटिन के मुताबिक राप्ती नदी 77.27 मीटर पर बह रही है, जबकि खतरे का स्तर 74.98 है, रोहिन नदी 84.44 मीटर पर बह रही है जबकि इसका खतरे का निशान 82.44 मीटर है.

राहत की बात है कि रोहिन नदी का जल स्तर बुधवार से कुछ कम हुआ है. जिले के इलाहीबाग, बशारतपुर, बडगो, चिलुआताल, चिलमापुर और बहरामपुर सहित अन्य क्षेत्र बाढ़ के पानी में डूब गए हैं. जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में विशेष रूप से पुरानी बीमारियों के रोगियों के लिए आवश्यक दवाएं उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा कि जो इलाके प्रभावित नहीं हैं. वहां के कर्मचारी और गांवों के चिकित्सक भी बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में सेवाएं प्रदान करें. उन्होंने यह भी कहा कि तरकुलानी और खोराबार क्षेत्र जैसे बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों प्रभावित लोगों को आवश्यकता के अनुसार पीने योग्य पानी, भोजन के पैकेट और कपड़े उपलब्ध करायें जायें.

कुछ स्थानों पर हल्की बारिश

उधर, पिछले 24 घंटों में राज्य में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश हुई है. जबकि अलग-अलग स्थानों पर गरज के साथ छींटे पड़े. मौसम विभाग ने बताया कि मथुरा, हापुड़, सीतापुर, आगरा, अलीगढ़, बुलंदशहर, ललितपुर, गौतमबुद्ध नगर और बागपत जिलों में बारिश दर्ज की गई. विभाग ने बताया कि लखीमपुर खीरी राज्य का सबसे गर्म स्थान रहा, जहां का अधिकतम तापमान 35.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

आज और कल बारिश की संभावना

मौसम विभाग के अनुसार आज और कल पूर्वी यूपी के कुछ स्थानों पर और पश्चिमी यूपी में अलग-अलग स्थानों पर बारिश, गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button