उत्तर प्रदेशलखनऊ

कोरोना से बड़ी चिंता बना डेंगू! 500 से ज्यादा मामले मिलने से हड़कंप… मच्छरों के खात्मे के लिए शुरू हुआ अभियान

यूपी के कई जिलों में इन दिनों डेंगू तेजी से फैल रहा है. हालात ये हो गए हैं कि फिरोजाबाद के साथ ही कई और जिले भी बीमारी की चपेट में आ गए हैं. डेंगू के मामले कुछ ही दिनों में 500 के पार हो गए है. जो आम जनता के साथ ही सरकार के लिए बड़ी चिंता बन गई है. डेंगू का कहर यूपी के मथुरा और फिरोजाबाद से शुरू हुआ था जो अब दूसरे राज्यों में भी तेजी से बढ़ रहा है. अब तक बहुत से बच्चे अपनी जान गंवा चुके हैं.

मच्छरों को खत्म करने के लिए सरकार बड़े स्तर पर अभियान चला रही है. वहीं स्वास्थ्य विभाग भी पूरी तरह से एक्शन में है. बड़ी संख्या में बच्चों की मौत के बाद सख्त कार्रवाई करते हुए जिला अस्पताल के सीएमओ का ट्रांसफर कर दिया गया था. सरकार इस मामले में किसी भी तरह की लापरवाही बरतने के मूड में बिल्कुल भी नहीं है.सरकारी रिपोर्ट के मुताबिक 2 सितंबर तक राज्य में डेंगू के मामले 497 तक पहुंच गए थे. वहीं मथुरा में 107 और फिरोजाबाद में 49 डेंगू के मामले सामने आ चुके हैं.

यूपी के दूसरे शहरों में भी फैल रहा डेंगू

वाराणसी में डेंगू के 69, लखनऊ में 84, कानपुर में 21, बस्ती में 11 वहीं मेरठ में 10 मामले सामने आने से हड़कंप मचा हुआ है. डेंगू का प्रकोप सिर्फ मथुरा और फिरोजाबाद तक ही सीमित नहीं है. धीरे-धीरे यह राज्य के दूसरे शहरों तक भी फैलता जा रहा है. प्राइवेट लैब में भी डेंगू की टेस्टिंग की जा रही है. उनका आंकड़ा अलग है. प्राइवेट अस्पतालों में इलाज कराने वाले मरीजों का सही आंकड़ा अभी तक सामने नहीं आ सका है. इससे साफ अंदाजा लगाया जा सकता है कि डेंगू के आंकड़े इससे कई ज्यादा हो सकते हैं. डेंगू के कहर की वजह से पिछले दो हफ्तों में मथुरा में 15 वहीं फिरोजाबाद में 45 मरीजों की मौत हो चुकी है.

12 साल से कम उम्र के बच्चे डेंगू का शिकार

डेंगू 12 साल से कम उम्र के बच्चों को अपना शिकार बना रहा है. पिछले कई सालों से बरसात के मौसम में हर साल डेंगू का प्रकोप देखने को मिलता है. लेकिन इस साल यह बीमारी घातक और जानलेवा साबित हो रही है. एक तरफ सरकार कोरोना की तीसरी लरह को लेकर तैयारियों में जुटी हुई है. वहीं अब डेंगू कोरोना से बड़ा संकट यूपी में बनता जा रहा है. बड़ी संख्या में इन दिनों डेंगू के मरीज यूपी में मौजूद हैं.

1 सितंबर के कोरोना के आंकड़ों पर अगर गौर किया जाए तो सिर्फ 250 एक्टिव केस थे. वहीं डेंगू के मामले 497 दर्ज किए गए. डेंगू राज्य में एक बड़ी चिंता बनता जा रहा है. सरकार मच्छरों के खात्मे के लिए लगातार छिड़काव करा रही है. प्रभावित जिलों में घर-घर जाकर पानी में जमा मच्छरों का सफाया करने का आदेश सरकार की तरफ से दिया गया है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button