उत्तर प्रदेशदेशबड़ी खबर

अनाज मंडी में लाठी, लोहे की रॉड और तलवारें लेकर पहुंचे शरारती तत्व, चढूनी-टिकैत समेत 11 नेताओं की प्रशासन से वार्ता जारी

करनाल में किसानों की महापंचायत सभास्‍थल में कुछ शरारती तत्व लाठी, तलवारें और लोहे की रॉड लेकर पहुंचे हैं.जिला प्रशासन ने किसान नेताओं से हथियारबंद इन लोगों को सभा स्‍थल से बाहर जाने का आग्रह किया. पुलिस और प्रशासन ने यह जानकारी दी है. जिला प्रशासन की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि करनाल अनाज मंडी में किसानों की महापंचायत सभास्‍थल पर कुछ श्‍रारती तत्‍वों की सूचना मिली है.

जिला प्रशासन ने अपने बयान में कहा है कि इन लोगों की मंशा ठीक नहीं लग रही है, अगर किसी भी परिस्थिति में कानून का उल्‍लंघन हुआ तो पुलिस और प्रशासन को सख्‍त कार्रवाई के लिए मजबूर होना पड़ेगा. आईजीपी करनाल ने बताया कि जिला प्रशासन ने किसान नेताओं से आग्रह किया कि अनाज मंडी, करनाल में लाठी, लोहे की रॉड लेकर पहुंचे शरारती तत्वों को सभा स्थल से बाहर जाने को कहें. उन्‍होंने कहा कि वे किसान नेताओं की नहीं सुन रहे हैं. हम उन्हें कानून न तोड़ने की चेतावनी दे रहे हैं.

किसान नेताओं की प्रशासन से चल रही बातचीत

करनाल जिला प्रशासन के बुलावे पर गुरनाम सिंह चढूनी, राकेश टिकैत और योगेंद्र यादव समेत 11 किसान नेता जिला सचिवालय में प्रशासनिक अफसरों से वार्ता कर रहे हैं.  किसान नेता राकेश टिकैत, गुरनाम सिंह चढूनी, सुरेश कौथ, दर्शन पाल, रामपाल चहल, बलबीर सिंह राजेवाल, योगेंद्र यादव, इंद्रजीत सिंह, अजय राणा, सुखबिंदर चहल, विकास शिखर lesr 11 किसान नेता प्रशासन से वार्ता में शामिल हैं.इससे पहले किसान नेता चार बैरिकेड हटने के बाद सचिवालय पहुंचे. सबसे पहले निर्मल कुटिया पर लगा बैरिकेड हटाया गया, उसके बाद सेक्टर 12, फिर कोर्ट और सबसे अंत में सचिवालय पर लगे बैरिकेड हटाए गए.

अनाज मंडी में पैरामिलिट्री फोर्स तैनात

करनाल में किसानों की महापंचायत को लेकर प्रशासन ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हुए हैं. अनाज मंडी के सभी पांचों प्रवेश द्वारों पर पैरामिलिट्री फोर्स लगाई गई है. साथ ही पंचायत सभा स्‍थल के आस-पास के इलाकों को भी सील किया गया है. बसताड़ा टोल पर किसानों पर हुए लाठीचार्ज के विरोध में महापंचायत की जा रही है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button